Health

Know 5 Important Facts About Diabetes Insipidus

Diabetes Insipidus, Diabetes Mellitus, Antidiuretic Hormone

Diabetes Insipidus – ये Disease बहुत ही Rare होती है जो Frequent Urination का कारण बनती है। इसका Main Reason है Fluid Imbalance, जब Fluid Imbalance हो जाता है तो ज्यादा Urination होता है। ज्यादा Urination की वजह से ज्यादा प्यास लगती है और Diabetes Insipidus  (DI) वाला Patient ज्यादा जल्दी Dehydrated हो जाता है। आज के Article में हम DI इसके Symptoms, causes आदि के बारे में Discuss करेंगे :

What is Diabetes Insipidus ?

Diabetes Insipidus एक Endocrine Condition है जिसमें Posterior Pituitary Peptide Hormone Antidiuretic Hormone (ADH) Involve होता है। Antidiuretic Hormone, Principal Hormone होता है जो Body में Homestatsis में Main Determinant होता है। बच्चो में Diabetes Insipidus होने से बच्चों में  Irritation, Fever , Vomiting, Diarrhea और Listless जैसी Problems होती है।

इसकी 4 Main Classifications होती है जिनमे से सबसे Common होती है Central Insipidus और Nephrongenic Insipidus और दो सबसे Less Common Types है Dipsogenic Diabetes Insipidus और Gestational Diabetes Insipidus .

ADH Hormone Target Organ पर Act करता है जैसे कि ये Kidney को Urine Osmolality Increase करने में मदद करता है। Osmoregulation और Baroregulation दोनों Negative Mechanism है जो ADH की Secretion को Control करते हैं।

 

What is the Difference Between Diabetes Insipidus and Diabetes Mellitus?

 

Diabetes Insipidus, Antidiuretic Hormone, Diabetes Mellitus

 

Diabetes Mellitus और Diabetes Insipidus दोनों एक दूसरे से अलग है ये दोनों एक दूसरे से Relate नहीं करती। Diabetes Mellitus Insulin की Resistance या Deficiency की वजह से होती है जो Body में High Blood Glucose या High Blood Sugar Cause करती है.

Diabetes Mellitus और Diabetes Insipidus दोनों Unrelated है लेकिन इनके Symptoms Same होते है जैसे कि Excessive Thrist और Excessive Urination होना। Diabetes Mellitus में दो Main Forms होती है Type 1 Diabetes और Type 2 Diabetes जबकि Diabetes Insipidus Illness की अलग – अलग Types होती है।    

 

How Fluid Regulates in the Body ?

Body में Body Fluid की Volume और Composition को Balance करने का Complex System है। Kidney Bloodstream में से Extra Fluid Remove करती है। ये Fluid Bladder में Urine की Form में Store होता है।

जब Fluid Regulation System Proper Work करता है तो Kidney Fluid को Conserve करने के लिए कम Urine Form करती है जब Water Intake कम हो जाता है या Water Lost हो जाता है। रात के समय भी Kidney कम Urine Form करती है क्योकि रात में Metabolic Process Slow होता है।

Fluid की Volume और Composition को Balanced करने के लिए Fluid का Rate Thrist के द्वारा Controlled होता है और Rate of Excreation, Antidiuretic Hormone (ADH जिसको Vasopressin भी कहते है) की Production से Controlled होता है। ये Hormone Brain के एक Gland Hypothalamus में बनता है।

ADH, Pitutary Gland में Store होता है जरूरत पड़ने पर Bloodstream में Release होता है। जब ADH Kidney तक पहुंचता है तो Bloodstream में Filtered Water को Reabsorb करके Urine Concentrate के लिए Direct करता है। जब Kidney Fluids को Handle नहीं कर पाती तो System Disrupted हो जाता है जिससे Diabetes Insipidus की Problem  होती है।

 

Types of Diabetes Insipidus?

1 . Central DI :  ये DI की Common Form है , Pitutary Gland की Damage से ये Cause होती है जो ADH की Storage और Release को Disrupt करता है। Head Injury, Neurosurgery या Genetic Disorder की वजह से Pitutary Gland Damage होता है।

ADH Deficiency (जो Hypothalamus और Pitutary Gland को Damage करता है) को Treat करने के लिए Synthetic Hormone जिसे Desmopressin कहते है, Inject किया जाता है।  Desmopressin लेते समय Patient को सिर्फ प्यास लगने पर ही पानी पीना है, बाकि समय पानी नहीं पी सकते। ये Drug Water Excretion को Prevent करती है।

Risk Factors of Central DI : DI Risk Factors में Hypothalamus में Traumatic और Non – Traumatic Causes AVP Production Magnocellular Neurons को Damage करते हैं।

  • Traumatic Causes में सबसे Common Risk Factor होता है Sellar और Suprasellar Area में Tumor की Surgical Restriction . इसके इलावा Brain Injury भी Central DI Cause कर सकती है।
  • Non – Traumatic Causes में Genetic Mutation, Primary Brain Tumor , Secondary Brain Tumor आते हैं।

2 .  Nephrogenic DI : ये Condition Cause होती  है जब Kidney ADH Hormone को  Response करना बंद कर देती है। Lithium जैसी Drug और Chronical Disorder जैसे कि Polycystic Kidney Disease, Sickle Cells Disease, Kidney Failure और Genetic Disorder की वजह से Kidney का ADH को Response कमजोर होने लगता है।

इस Case में Desmorpressin काम नहीं करती, Hydrochlorothiazide HTCZ या Indomethacin दी जाती है। HTCZ के साथ भी प्यास लगने पर ही पानी पीना चाहिए।

Risk Factor : Genetic Risk Factor के इलावा Lithium Treatment, Hypercalcaeima और Hypokalaemia भी Responsible है।

 

3 . Dispogenic DI : ये Condition Thrist Mechanism में Defect या Damage की वजह से होती है जो Hypothalamus में होता है। इससे ज्यादा प्यास लगती है, Fluid Intake Increase हो जाता है जिससे ADH की Secretion दब जाती है और Urination Increase हो जाता है। इसके लिए Desmorpressin या कोई और Drug नहीं ली जाती क्योकि ये Urine Output तो Decrease कर देती है लेकिन प्यास और Fluid Intake को कम नहीं कर पाती।

Fluid Overload होने से Water Intoxication हो सकती है, ये एक Condition होती है जिसमे Blood में Sodium की Concentration कम हो जाती है as a result ये Brain को Damage करता है।

 

4 . Gestational DI : ये Condition Pregnancy में होती है जब Placenta के द्वारा बनाए गए Enzyme Mother का ADH Hormone Damage करना शुरू कर देते है। Placenta Mother और Fetus के बिच Nutrients के Exchange में मदद करता है। ये Placental Vasopressinase Production की 2nd या 3rd stage में होता है। इसमे Desmorpressin से Treat किया जाता है लेकिन कुछ Cases में Desmorpressin Use नहीं की जाती। (click here for more about Diabetes)

 

How to Diagnosed DI ?

Diabetes Mellitus और Diabetes Insidipus के Symptoms काफी  हद तक Same है लेकिन Doctor को Treatment से पहले Suspect करना चाहिए कि Patient को DI या DM की Problem है। Testing की मदद से Diagonsis Clear हो जाते है। Diagnosis Test में Urination Test, Fluid Deprivation Test शामिल होते है।

Urinalysis में Urine की Physical और Chemical Examination होती है। DI Patient का Urine Less Concentrated होता है, इसलिए Salt और Waste Concentration कम होती है और Water Excretion Amount ज्यादा होती है।

Fluid Deprivation Test में  List में दिए गए Reasons की वजह से DI होता है :

  • Fluid का Excessive Intake करना
  • ADH Production में Defect
  • Kidney का ADH को Response न करना या Defect होना

कुछ Cases में Blood Level Measure करना भी जरूरी हो जाता है। इसके साथ Brain MRI (Magnetic Resonance Imaging) करना भी जरूरी होता है।

 

Read Also: 

5 Amazing Benefits of Tea in Diabetes

Know 5 Amazing Points of Diabetes Management

Know 4 Facts About Hypoglycemia & More

6 Amazing Diet in Diabetes & Important Points

5 – Type 1 Diabetes & Type 2 Diabetes Causes and Symptoms

भारत में मिलने वाले शीर्ष 10 Whey Protein उत्पाद

Top 10 Whey Proteins in India

घर में बने 7 सुपरफूड मोटापा कम करने के लिए

7 Effective Mass Gain Workouts & Benefits

7 Super Home-Made Food for Muscles Building

5 Useful Mass Gain Diet in Hindi

know 6 Best Healthy Food for Weight Loss

5 Beneficial Breakfast Diet – What to Eat After Wake Up?

7 Best Post Workout Drinks and their Benefits

4 Recovery Drinks for Runners in Hindi

5 Amazing Natural Recovery Drinks for Running

7 Heart Health Supplement – Claim Healthy Heart

5 Best Glucose Meter Machine – Blood Glucose Monitor

5 Effective Diabetes Control Drinks in Hindi

 

इस Article में दी गयी जानकारी Educational Purpose के लिए है, किसी भी Information को Medical Purpose के लिए Use न करें। अपने Doctor से सलाह लिए बिना कोई भी Information को Follow न करें।

Diabetes Insipidus से संबंधी किसी भी तरीके का कोई प्रश्न या Inquiry हो तो हमे Comment करके जरूर पूछे और अगर इस Article से आपको मदद मिली है तो इसे अपने नजदीकी और जरूरतमंद लोगों के साथ शेयर करें तांकि वो भी इस Article से जानकारी हासिल कर सकें।

What's your reaction?

Excited
0
Happy
0
In Love
0
Not Sure
0
Silly
0

You may also like

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in:Health